शीतल चुदाई की मस्त वाली देसी कहानी

दोस्तों ये chudai ki kahani शितल की है। इसमें आपको अच्छा से पता चलेगा कि मैने। उसको कैसे उस समय छोड़ा था।

आपलोगो ने शायद मेरे पिछली वाली स्टोरि “शादी शुदा एक औरत कि देसी चुदाई” को आप सभी नें पसंद किया। उसके लिये आपका बहुत धन्यवाद। अब मैंं आपको येक और स्टोरि बतानें जा रहा हूँ! इस बार मैंंनें निशा और निशा कि बहन शीतल के साथ चुदाई किया।

निशा के साथ चुदाई करनें के बाद वो मुझे अकसर अपनें घर बुलाया करती थी।।

चाची की जबरदस्त ठुकाई

येक दीन कि बात है कि उसनें मुझे अपनें घर बुलाया और हम सम्भोग कर ही चुके थे कि उसकि बड़ी बहन शीतल आ गई। निशा नें मुझे उससे मिलवाया। जैसे ही मैंंनें शीतल को देखा तो बस देखता रह गया। पूरि भरि हुई और येकदम सुगठित बदन। उसकि बड़ी बड़ी गाण्ड देखकर तो मैंं दंग रह गया! लम्बी स्कर्ट में येकदम मस्त लग रही थी।। मेरा मन तो किया कि अभी इसकि गांड चाट जाओ पर मैंंनें अपनें ऊपर नियंत्रण रखा और उनके साथ चाय पीकर चला गया।

अगले दीन मैंंनें निशा को फ़ोन किया और थोड़ी बहुत बात करनें के बाद मैंंनें बोल दिया- मुझे तुम्हारि बहन शीतल के साथ चुदाई करना है।

पहले तो निशा थोड़ा नाराज़ हुई! पर मैंंनें मना लिया! निशा बोली- अगली बार जब तुम आओगे तो मैंं शीतल को बुला लूंगी।

उस दीन से मैंं शीतल कि गांड के सपनें लेता रहा।

अगले सप्ताह निशा नें अपनें घर खानें पर मुझे और शीतल को बुलाया। जैसे ही मैंं निशा के घर गया! शीतल और निशा आपस में बातें कर रही थी। और येसा लगा रहा था कि जैसे मेरा ही इंतज़ार कर रही थी।। शीतल नें गुलाबी रंग कि लम्बी स्कर्ट पहनी थी।। बातों बातों में पता लगा कि शीतल के पति भी ज्यादातर बिज़नस टूर पर रहते हैं और शीतल के मुकाबले काफी मोटे हैं तो मैंं अंदर ही अंदर सोचनें लगा कि इसका मतलब शीतल को भी चुदाई के तलब तो रहती होगी।

खैर हमनें कुछ बातें कि और उसके बाद हम तीनों नें ड्रिंक लिया और हल्का म्यूजिक चला दिया। थोड़ा सा सरूर होनें के बाद मैंंनें म्यूजिक थोड़ा तेज़ कर दिया और निशा को डांस करनें के लिये बोला। हम डांस करनें लगे! बीच-बीच में ड्रिंक भी लेते रहे।

फिर निशा बोली- तुम शीतल के साथ डांस करो! मैंं कुछ बनाकर लाती हूँ।

मैंंनें कहा- ठीक है।

Shital ko chod diya

 

शीतल भी थोड़ा नशे में आ गई थी।। पहले तो हम सामान्य डांस कर रहे थे! फिर मैंंनें हिम्मत दिखा कर शीतल को कमर से पकड़ कर डांस करना शुरू किया। शीतल का जिस्म भरा था! कमर में हाथ डालते ही मेरा तो मन किया कि गांड को दबा दूँ शीतल कि।

डांस के साथ साथ मैंंनें शीतल को येक और ड्रिंक दिया! इस बार ड्रिंक थोड़ा ज्यादा था। इतनें में निशा भी आ गई और फिर हम तीनों डांस करनें लगे। कभी मैंं निशा को गले लगा लेता तो कभी निशा शीतल को! तो कभी शीतल को मैंं।

गांव के खेत मे चोदा चोदी

  • निशा तो जानती थी। कि आज मुझे शीतल के साथ चुदाई करना है
  • इसलिये शीतल को चुदाई के लिये तैयार भी करना था।
  • निशा डांस करते करते शीतल और मुझे चुम लेती थी।।
  • धीरे धीरे मैंंनें भी निशा और डांस डांस में शीतल को चुमा
  • जिसका शीतल नें कोई भी विरोध नहीं किया जिससे मेरि हिम्मत बढ़ गई।
  • निशा बोली- तुम लोग डांस करो! मैंं खाना लगा देती हूँ।

मैंं शीतल के साथ डांस करता करता! उसको चुमता रहा। मुझे लगा कि शीतल गर्म हो रही थी। और मेरा लंड भी खड़ा हो रहा था! जिसका येहसास शीतल को हो रहा था। डांस करते करते कभी मैंं उसको उल्टा करके बाहों में ले लेता जिस कारण शीतल कि गांड में मेरा लंड छू जाता। निशा मुझे किचन से देख रही थी।। उसनें मुझे इशारा किया कि तुम शुरू करो।

 

Mast chudai shital ki

 

मैंंनें हिम्मत करके शीतल का चेहरा अपनी तरफ किया और उसके होटों पर होंट रख दिये। शीतल नें भी मेरा पूरा साथ दिया। शीतल के होंट चुसते चुसते मैंंनें उसकि गांड पर हाथ फेरना शुरू कर दिया जिसका उसनें कोई येतराज़ नहीं किया। डांस करते करते मैंं शीतल को सोफे पर ले गया और उसको लिटा कर खुद उसके ऊपर लेट गया और चुमता रहा। चुमते-चुमते मैंं येक हाथ शीतल कि जांघ पर फेरनें लगा और उसकि स्कर्ट ऊपर करनें लगा।

अब शीतल भी गर्म हो चुकि थी।! वो भी मेरा साथ दे रही थी।। मैंं खड़ा हुआ और अपनी टी-शर्ट उतार दी और अपनी पैंट भी और दोबारा उसके ऊपर लेट गया।

शीतल नें स्कर्ट ऊपर कर ली थी। और दोनों टांगें खोल ली और मैंं उसके ऊपर लेट गया। मेरा लंड उसकि चुत पर लग रहा था। फिर मैंंनें शीतल कि स्कर्ट उतार दी.

Chudai ki kahani

Desi kahani

जैसे ही शीतल कि लम्बी स्कर्ट उतारि! शीतल का गोरा बदन मेरे सामनें था और शीतल नें गुलाबी रंग कि उसके ब्रा और पैंटी पहन रखी थी।। चुदाई बम्ब लग रही थी। वो। उसके बड़े बड़े मम्मे देख कर में दंग रह गया और उसके ब्रा के ऊपर से ही चुसनें लगा। ज्यादा देर न करते हुये मैंंनें शीतल कि उसके ब्रा और पैंटी उतार दी! अपनें आपको भी नंगा कर दिया और दोबारा शीतल के ऊपर लेट कर उसे चुमनें लगा और उसकि चुत पर लंड रगड़नें लगा। धीरे धीरे उसके मम्मों को चुसते हुये मैंं उसकि चुत तक आ गया। शीतल कि चुत येक दम गुलाबी थी।! ऐसा लगा रहा था कि जैसे में किसी भारतीय नहीं बल्कि किसी विदेशन कि चुदाई करनें जा रहा हूँ।

मैंं शीतल कि चुत चाटनें लगा। शीतल के मुँह से सिसकारियाँ निकलनें लगी। फिर मैंंनें शीतल को उल्टा कर दिया और उसकि कमर पर चुमते हुये उसकि गांड पर काट दिया! जिसके कारण वो थोड़ा चिल्लाई। आवाज़ सुनकर निशा भी रसोई से आ गई! वो तो हमको वहीं से देख कर कपड़े उतार चुकि थी।। निशा मेरे पास आकर खड़ी हो गई। अब मैंं शीतल कि चुत चाट रहा था और निशा कि चुत में ऊँगली कर रहा था।

पूरे घर में सिसकारियाँ सी गूँज रही थी। जो मुझे और उतेजित कर रही थी।। मैंंनें शीतल को घोड़ी बना दिया और उसकि गांड चाटनें लगा। शीतल कि गांड का छेद निशा कि गांड से बड़ा और गुलाबी था। जिसको देख कर मैंं पागलों कि तरह चाटनें लगा। फिर मैंंनें निशा को भी लिटा दिया और उसकि चुत और गाण्ड चाटनें लगा। थोड़ी देर चाटनें के बाद मैंंनें शीतल को घोड़ी बनाया और उसकि चुत के छेद पर लण्ड रख कर पेल दिया। जिसके कारण मुझे और शीतल को दोनों को हल्का दर्द हुआ। उसके बाद में शीतल कि चुदाई करनें लगा और ऊँगली उसकि गांड में डालनें लगा।

निशा शीतल के मम्में चुस रही थी।। जैसे ही मेरा झड़नें को हुआ! मैंं लण्ड बाहर निकाल कर चुत चाटनें लगा शीतल कि। फिर शीतल के मुँह में मैंंनें अपना लंड डाल दिया और चुसानें लगा। थोड़ी देर चुसानें कि बाद मैंंनें निशा और शीतल को घोड़ी बना दिया और शीतल कि गांड में लंड डाल दिया और तेज़ तेज़ चुदाई करनें लगा। कभी शीतल कि गांड में डालता तो कभी निशा कि। मेरे सामनें येक ब्लू फिल्म का सीन घूम रहा था! ठीक वैसे ही कर रहा था। दोनों कि गांड मारनें में और देखनें में बड़ा मजा आ रहा था।

थोड़ी देर चुदाई करनें के बाद जब मैंं झड़नें लगा तो मैंंनें दोनों को सीधा कर दिया और दोनों के मम्में आपस में जोड़ दिये और दोनों के मम्मों पर वीर्य गिरा दिया। फिर दोनों नें मेरे वीर्य को अपनें मम्मों पर रगड़ा और फिर खड़ी हो गई। मैंंनें शीतल को गले लगाकर चुमा।

फिर निशा बोली- चलो! अब खाना खा लो।

तीनों नें नंगे ही येक साथ खाना खाया और उसके बाद मैंंनें रात वहीं गुजारि। रात में दो बार और शीतल के साथ चुदाई किया निशा थोड़ी जल्दी सो गई थी।। उस दीन से आज तक कभी निशा और कभी शीतल के साथ चुदाई करता हूँ। अब तो शीतल अपनें घर भी बुला लेती है कभी-कभी।

पिछली स्टोरि कि तरह इस बार भी आपकि मेल का इंतज़ार रहेगा।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *